मैं इश्क़ में इंटर्न हूं


यार! तुम्हारा प्यारा न हुआ किसी मीडिया संस्थान की नौकरी हो गई हैजो किसी भी वक़्त बिना नोटिस फ़ायर हो सकती है.

यार कमाल कमाल करते हो तुम भीतुम कौन सा मुझे सरकारी नौकरी की तरह रिटायरमेंट तक पकड़ कर बैठे रहोगेजहां कोई मुझसे बेहतर मिली पकड़ के निकल लोगे.

नहीं यार अपनी कसमतुम्हारे प्यार से बड़ा डर लगता हैकई बार लगता है मैं ट्रेनी प्रेमी हूँ जिसे किसी भी पल तुम बिना नोटिस के अपनी ज़िन्दगी से बाहर निकाल सकती हो.

क्यों तुम्हें ऐसा लगता है?

क्योंकि तुम हर बार मेरी Performance पर सवाल उठा देती हो.

हाँतो क्या ग़लत करती हूँतुम हो ही इसी लायककभी कुछ ज़िन्दगी में अच्छा किया हैडेट पे कभी टाइम पे आये होआते भी हो तो तुम्हारा गेटअप देखकर मैं दूर से ही निकल जाती हूँकौन तुम्हारे पास आयेकिसी सहेली या फ्रेंड ने देख लिया तो बदनाम हो जाऊँगीवे मुझे चिढ़ाएंगेकिस कुरूप से मेरा चक्कर चल रहा हैतुम्हारी Performanceतो बेहद घटिया है.

एक दिन ग़लती से मैंने तुम्हारे साथ वाली फ़ोटो फ़ेसबुक पे डाल दी थीएक घंटा बीत गया था एक भी दिल वाला लाइक नहीं मिलावो मेरे ऑफिस वाला लड़का जो मुझे लाइन मारता है उसने भी लाइक नहीं किया थावो तो मैंने डिलीट कर दिया नहीं तो लोग क्या कहते मुझेतुम पनौती हो मेरे लिए.

बात तो सही कह रही होएकाध और कमी हो तो आज ही बता दोपेंडिंग काहें रखोगी?

कितने Old Fashioned हो यार तुमतुम किसी काम के होकैसे हाथ पकड़ कर चलते हैंकैसे बात करते हैं कुछ पता हैकपड़े तो ऐसे पहनते हो जैसे कहीं ठेले से उठा लाये हो, 10 रुपये में थोक के भाव ख़रीदते हो क्या राजीव चौक लायक भी तुम्हारा Standardनहीं हैहोटल में जाते हो तो स्पून छोड़ कर हाथ से खाने लगते होगंवार हो क्या?

मॉडर्न लवर ऐसे होते हैं क्याकोई स्टैण्डर्ड है की नहीं तुम्हारामुझे शर्म आती है कि तुम मेरे बॉयफ़्रैंड हो.

अच्छा कंचन जब मुझमें इतनी ख़राबी है तो छोड़ क्यों नहीं देती?

छोड़ तो दूंगी हीबस इंतज़ार कर रही हूँ शायद तुम्हारी Performance ठीक हो जाए.

वो मेरे ऑफिस में एक नई लड़की आई हैमहिमा नाम है. Characterless हैप्रतीक पे डोरे डाल रही हैमुझे ज़रा भी नहीं पसंद है वोमणिक पे भी वो डोरे डालती रहती है.कमीनी कहीं की.

अच्छा सुनो तुम्हारा फ़ोन बज रहा है उठा लो.

अर्रेओह माय गॉडप्रतीक की कॉल आई हैउठाती हूँबेचारा परेशान हो जायेगा.अच्छा सुनोमैं

दस मिनट में बात करके आती हूँतब तक तुम यहीं बैठे रहो.

सॉरी यार मुझे देर हो गईमैं उससे बात न करूँ तो वो परेशान हो जाता हैमेरी बहुत केयर करता हैपता है एक दिन कह रहा था मुझसेतुम्हारा बॉयफ़्रैंड बहुत गन्दा दिखता है छोड़ दो उसे.

मैं तुम्हारी उससे ज़्यादा केयर करूँगाकितना क्यूट है न वो?

क्यूट नहीं हरामी है सालाबेवक़ूफ़ समझती हो का हमें?

‘अब तुम मुझे ये मत समझो कि मैंने ऐसेवैसे संस्थान से प्यार में डिप्लोमा लिया हैमैं मोहब्बत के प्रीमियर वाले Institute से पढ़ा हूँ.’

प्यार में फ़्रेशर ज़रूर हूँ लेकिन याद रखा मुझपे जिस संस्थान का ठप्पा लगा है न वो तुम्हारे नए वाले यार के सपने में भी नहीं आता होगामोहब्बत में हम कामदेव से एक अक्षर कम नहीं पढ़े हैंसाला टकलादेख लेंगे कौन सा चाँदतारा तुम्हारे हाथ पे तोड़ के रख देगा तुम्हारा प्रतीक!  मुझे हज़ारों मिलेंगी तुम जैसी.

 

बस बहुत हो गया राम चरणअब और नहींतुम बहुत चीप होतुम्हें तो मैं परमानेंट वैसे भी नहीं करती लेकिन कुछ दिन तुम्हारे साथ रहतीतुमने वो मौका भी खो दियाफ़कऑफ़.

तुमने सही कहातुम इंटर्न ही तो होतुम जैसे छत्तीस आगेपीछे घूमते रहते हैं मेरे आसपासबॉस से लेकर H.R तक लाइन मारते हैंऑफर की कोई कमी नहीं हैतुम भाड़ में जाओतुम्हें अपनी ज़िन्दगी में लाना मेरी सबसे बड़ी ग़लती थी.

देखोभावनाओं में बहो मत.

अगले महीने हमरी नौकरी बड़कामीडीया घराने में लगने वाली हैसैलरी होई जाएगी धकाधकअब इससे पाहिले तुम हमको छोड़ो हम हीं तुम्हें छोड़ देते हैं.

तुमसे बतियाने के लिए हम जितना पैसा फूंकते थे न अब सारा बचा के रखेंगेजिम जायेंगे बॉडी बनायेंगेहीरो बन के गदर मचाएंगे.

तुम्हारे नसीब में प्रतीक हम सिंगलै ही ठीक.

हम चले कहीं और प्यार का Internship करनेचलते हैं.

कौनो ज़रुरत हो तो हमको मत बुलाना किसी और को ढूंढ लेनाजय श्री राम!

 

फ़ीचर इमेज सोर्स-  pinimg.com


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *